ENG | HINDI

बुराड़ी कांड में मरे 11 लोगों को यहां हुआ है पुर्नजन्म, मिला सबूत

बुराड़ी कांड

बुराड़ी कांड – पहले के जमाने में या यूं कह लीजिए कि कुछ साल पहले तक अपनी बात को सच साबित करने के लिए लोगों को रिसर्च करनी पड़ती थी, सबूत पेश करने पड़ते थे, लोग लेक्‍चर देते थे और थीसिस पेश करते थे। इतनी मशक्‍कत के बाद कहीं जाकर वो अपनी बात को साबित कर पाते थे लेकिन इस सोशल मीडिया के ज़माने ने सब कुछ पलट कर रख दिया है।

अब सच क्‍या है क्‍या नहीं, ये जाने बिना ही लोग सोशल मीडिया पर वायरल हो रही बात पर विश्‍वास कर लेते हैं।

हाल ही में कुछ ऐसा ही बुराड़ी कांड के साथ भी हुआ।

जी हां, आइए जानते हैं कि सोशल मीडिया किस तरह इस सामूहिक हत्‍याकांड से खेल रहा है।

बुराड़ी कांड

11 लोगों को हुआ पुर्नजन्‍म

बुराड़ी कांड को लेकर सोशल मीडिया पर एक खबर आई है जिसने हर तरफ खलबली मचा रखी है। सोशल मीडिया पर इन दिनों तेजी से एक तस्‍वीर वायरल हो रही है। वायरल हो रही इस तस्‍वीर के मुताबिक सभी ग्‍यारह लोगों ने पुर्नजन्‍म ले लिया है। जी हां, आपने बिलकुल सही सुना – सोशल मीडिया की मानें तो बुराड़ी कांड में मारे गए 11 लोगों ने पुर्नजन्‍म ले लिया है। इन तस्‍वीरों में दावा किया जा रहा है कि भाटिया परिवार के 11 सदस्‍यों ने वापिस जन्‍म लिया है।

हालांकि, हम इस बात की पुष्टि नहीं करते हैं कि इस वायरल तस्‍वीर में बताई गई बात सच है या फिर झूठ।

बुराड़ी कांड

क्‍या है तस्‍वीर में

सोशल मीडिया पर जो तस्‍वीर वायरल हो रही है उसमें एक मेज पर 11 बच्‍चे एकसाथ लेटे हुए हैं और इसी के साथ बुराड़ी के भाटिया परिवार के पुर्नजन्‍म की बात कही जा रही है। आपको बता दें कि ये फोटो किसी अस्‍पताल की है।

ये है तस्‍वीर का पूरा सच

इस फोटो का सच भी सामने आ गया है। जानकारी के मुताबिक ये वायरल फोटो गुजरात के सूरत के किसी अस्‍पताल की है। कहा जा रहा है कि किसी पारसी महिला ने अस्‍पताल में एकसाथ 11 बच्‍चों को जन्‍म दिया है और इसकी तस्‍वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। चूंकि बुराड़ी केस में मारे गए लोगों की संख्‍या भी 11 थी और पैदा हुए इन बच्‍चों की संख्‍या भी 11 ही है, इसलिए ये अनुमान लगाया जा रहा है कि बुराड़ी केस में मारे गए 11 लोगों को फिर से जिंदगी मिल गई है।

डॉक्‍टरों ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस खबर को पूरी तरह से झूठा बताया है। उनकी मानें तो कोई भी महिला एकसाथ 11 बच्‍चों को जन्‍म नहीं दे सकती है।

वहीं कई हिंदी समाचार चैनलों के मुताबिक इस तस्‍वीर को बहुत पुराना बताया गया है जिसे दोबारा से वायरल किया जा रहा है। वहीं ये भी खबर मिली है कि ये 11 बच्‍चे एक महिला के नहीं बल्कि अलग-अलग महिलाओं के हैं।

जो भी कहा गया है वो सोशल मीडिया पर कहा गया है। हम इनमें से किसी भी बात या घटना की पुष्टि नहीं करते हैं। इस बारे में हम तो बस यही कहना चाहेंगें कि सोशल मीडिया ही आज का भगवान बन गया है।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

Don't Miss! random posts ..