ENG | HINDI

दिल्ली में बम धमाका – देश के बाकी शहरों में भी हाई अलर्ट

दिल्ली बम धमाका

दिल्ली बम धमाका – खुफिया एजेंसी जिस बात की आंशका पहले से जता रही थी वह सच साबित हुई.

आज सुबह पुरानी दिल्ली के नया बाजार इलाके में बम धमाका हुआ, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई है जबकि 6 अन्य लोग घायल हो गए हैं.

सुबह का समय होने के कारण बाजार में कम लोग थे जिस कारण एक बड़ा हादसा होने से बच गया.

यदि यह दिल्ली बम धमाका कुछ देर बाद हुआ होता तो काफी जान माल की हानि होती. पुलिस को करीब 10 बजकर 40 मिनट पर सूचना मिली कि पुरानी दिल्ली के दालमंडी, नया बाजार में धमाका हुआ है और वहां अफरा तफरी का माहौल है.

दिल्ली बम धमाका जिसकी सूचना मिलते ही एंटी टेरर विंग, स्पेशल सेल और खुफिया विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच गई और तथ्यों की जांच की. शुरूआत में जैसा कहा गया था कि बम नहीं सिलेन्डर फटा है. लेकिन बाद में जांच से पता चला कि यह कोई सिलेन्डर नहीं फटा बल्कि धमाके में बारूद्ध का प्रयोग हुआ है. हालांकि लोगों में भगदड़ न मचे इसलिए पुलिस ने इसे सिलेन्डर फटने की घटना बताकर लोगों को मौके से अलग किया.

धमाका इतना तेज था कि जिस इमारत के नीचे यह धमाका हुआ वह भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई.

वहीं शुरूआती जांच से भी जो बाते सामने आ रही है उसे पता चलता है कि दिल्ली बम धमाका विस्फोटक की वजह से हुआ लेकिन जो बम फटा है वह कम तीव्रता का था. वहीं दमसरी ओर पुलिस का कहना है कि प्रथम द्रष्टि में यह धमाका पटाखे का है, जो जूट के एक बैग में हुआ. पुलिस को मौके से विस्फोटक भी मिले हैं. हालांकि वह किस प्रकार का है, यह फॉरेंसिक जांच के बाद ही पता चल पाएगा.

जबकि वहां मौजूद लोगों का कहना है कि यह धमाका पटाखों से भरे बैग का नहीं था. क्योंकि धमाका सिर्फ एक बार हुआ था, अगर पटाखे होते तो कई बार धमाके की आवाज आती. इससे बता चलता है कि जो युवक विस्फोटक ले जा रहा था हो सकता है कि उसका इसे कहीं ओर फिट करने का इरादा था लेकिन यह पहले ही फट गया.

संभावना जताई जा रही है कि उस समय धमाका करने की रही हो जब बाजार में लोगों की संख्या बढ़ जाए. लेकिन उसकी टाइमिंग गड़बड़ा गई. जहां धमाका हुआ है उस स्थान पर एक जूट बैग सड़क के किनारे लावारिस पड़ा हुआ था.

गौरतलब है कि कि नया बाजार इलाका दिल्ली के चांदनी चौक का सबसे व्यस्ततम इलाका है.

आजकल त्योहार का मौसम है और यहां दिल्ली ही नहीं देश के बाकी राज्यों से भी हजारों लोग खरीदारी करने आते हैं. इस बाजार में बहुत छोटी छोटी तंग गलियां हैं, क्योंकि जिस वक्त यह ब्लास्ट हुआ बाजार बंद था और वहां ज्यादा लोग नहीं थे. अगर बाजार खुलने के बाद यह धमाका होता तो नुकसान ज्यादा हो सकता था.

दिल्ली में बम धमाका – विडियो –

Don't Miss! random posts ..