ENG | HINDI

बॉलीवुड के मोस्ट रोमांटिक डॉयलाग, जिन्हें चाहकर भी नहीं भूल पाएंगे आप

वैसे तो फ़िल्मों की पहचान बनती हैं उसके किरदार, कहानी, और संगीत से लेकिन एक और चीज़ है जो फिल्म को यादगार बनाती हैं वो है उसके डायलॉग्स.

हम जिक्र करेंगे बॉलीवुड के मोस्ट रोमांटिक डॉयलाग का .

1.पाकीजा

अपनी दमदार आवाज़ के लिए मशहूर राजकुमार फ़िल्म पाकिजा में ट्रेन में सफ़र के दौरान मीना कुमारी के पैरों की तारीफ़ कुछ इस तरह करते है

‘आपके पैर बहुत हसीन है, इन्हें जमीन पर न रखे, मैले हो जाएंगे’

paakheeza

2.मुगले आज़म

इस फ़िल्म में दिलीप कुमार ने शहजादें सलीम का रोल किया था. वो मधुबाला बनीं अनारकली के लिए अपने प्यार को कुछ इस तरह बयां करते हैं.

‘मैं तुम्हारी आंखो में अपनी मोहब्बत का इकरार देखना चाहता हूं’

mugleazam

3.  सिलसिला– ये फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर कुछ ख़ास कमाल नहीं कर पाई, लेकिन अमिताभ बच्चन का ये डॉयलॉग आज भी लोगों के जहन में ताजा हैं.

मैं और मेरी तन्हाई अक्सर ये बातें करते है.

तुम होती तो कैसा होता, तुम ये कहती, तुम वो कहती

तुम इस बात पे हैरां होती,तुम उस बात पे कितनी हँसती

तुम होती तो ऐसा होता, तुम होती तो वैसा होता

मैं और मेरी तन्हाई अक्सर ये बातें करते हैं.

silsila

4. दिल से-फ़िल्म दिल से में शाहरुख़ ख़ान को जब मनीषा कोईराला नजरअंदाज़ करती है

तो वो कुछ यूं अपनी बात रखते हैं.

मुझे हमारे बीच की ये दूरियां बहुत पसंद है, अगर ये ना रहे तो मुझे तुम्हारे करीब आने का बहाना

ना मिले

 dilse

5.  दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे-इस फ़िल्म में शाहरुख़ ख़ान काजोल को कुछ यूं समझाते है-

‘इट्स ऑलराईट सिनोरिटा बड़े-बड़े देशों में ऐसी छोटी-छोटी बातें होती रहती हैं’

ddlj 

6.  हम दिल दे चुके सनम-

इस फ़िल्म में अजय देवगन प्यार को कुछ अलग तरह से परिभाषित करते हैं –

चाहने और हासिल करनें में बहुत फर्क होता है,प्यार सिर्फ हासिल करने का नाम नहीं प्यार देने का नाम है.

 humdildechukesanam

7.  फ़ना-  फ़िल्म फ़ना में आमिर खान काजोल के लिए अपने प्यार को कुछ यूं शायराना अंदाज़ में पेश करते हैं-

हम से दूर जाओगे कैसे, दिल से हमें भूलाओगे कैसे
हम तो वो खुश्बू है, जो सांसो में बसती है,
अपनी सांसो को रोक पाओगे कैसे

fanaa

7.  जब तक है जान – फिल्म जब तक है जान में शाहरुख़ कैटरीना को कुछ इस तरह याद करते हैं.

तेरी आंखों की नमकीन मस्तियां तेरी हंसी की बेपरवाह गुस्ताखियां

तेरी जुल्फों की लहराती अंगड़ाइयां नहीं भूलंगा मैं

जब तक है जान, जब तक है जान

तेरा हाथ से हाथ छोड़ना

तेरा सायों का रुख मोड़ना

तेरा पलट के फिर ना देखना

नहीं माफ करुंगा मैं जब तक है जान, जब तक है जान

jabtakhaijaan

8.ओम शांति ओम

इस फ़िल्म में शाहरुख़ खान का ये डॉयलॉग बेहद मशहूर हुआ –

कहते हैं कि अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो तो पूरी कायनात

उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती हैं.

 omshantiom

9.  मोहब्बतें-

मैं आज भी उससे उतनी ही मोहब्बत करता हूं और इसलिए नहीं कि कोई और नहीं मिली.

पर इसलिए कि उससे मोहब्बत करने से फुर्सत ही नहीं मिलती

 mohabbatei

10.ये जवानी है दीवानी-

दीपिका पादूकोण रणबीर के लिए अपनी उलझन कुछ इस तरह बयां करती हैं –

“तुम समझते क्यों नहीं अगर मैं तुम्हारे साथ 2 मिनिट और रही तो मुझे तुमसे

प्यार हो जाएगा”

yejawaanihaideewani

11.  आशिकी टू-फ़िल्म आशिकी टू में श्रद्धा कपूर के लिए अपना सब कुछ छोड़ने वाले सिदार्थ  रॉय कपूर का ये डॉयलॉग काफी मशहूर हुआ.

मैं आईने में एक बार अपना चेहरा भूल सकता हूं, तुम्हारा कभी नहीं

aashiqui2

12.राझंना –धनुष का ये डायलॉग बहुत इमोशनल बन पड़ा हैं.

नमाज़ में वो थी फिर लगा कि दुआ हमारी मंजूर हो गई.

raanjhana

तो देखा आपने कि कैसे एक फिल्म की कामयाबी में डॉयलॉग्स का भी योगदान होता हैं.और बात गर रुमानी संवाद की हो तो कुछ और ही है.

Don't Miss! random posts ..