ENG | HINDI

क्या सच में अशुभ होता है बिल्ली का रास्ता काटना? जानिए पूरी सच्चाई

शकुन-अपशकुन, मान्यताएं, परम्पराएं ये कुछ ऐसी बातें हैं जिन्हें कोई विश्वास मानता है तो कोई अंधविश्वास। विज्ञान से परे ये कुछ ऐसी बाते हैं जिन्हें समझना तो सभी चाहते हैं लेकिन समझ कोई नहीं पाया है।

क्यूं छींक आने पर घर से नहीं निकलना चाहिए, क्यूं कुत्ते का रोना अपशुकन होता है, क्यूं कौवे के घर की मुंडेर पर आवाज़ करने का मतलब घर में मेहमान आना माना जाता है, क्यूं बिल्ली के रास्ता काटने को अपशकुन माना जाता है, क्यूं दूध उबलकर गिरना अपशकुन माना जाता है?

ये कुछ ऐसे सवाल हैं जिनका जवाब किसी के पास नहीं है लेकिन फिर भी लगभग सभी लोग इन बातों पर विश्वास करते हैं। ये बातें सच हैं या सिर्फ दिल का वहम, ये भी एक बहुत बड़ा सवाल है।

कुछ बातें सिर्फ दिलो-दिमाग का वहम होती हैं या फिर उनके पीछे कोई लॉजिक होता है, ये एक विचित्र रहस्य है।

वैसे आपको बता दूं कि ऐसा भी माना जाता है कि जानवरों को आगे होने वाली बुरी घटनाओं के बारे में, किसी भी प्राकृतिक आपदा के बारे में पहले से ही पता चल जाता है।

अगर बात बिल्ली की करें तो बिल्ली से जुड़े कई शकुन अपशकुन जुड़े होते हैं। बिल्ली का रास्ता काटना सिर्फ अशुभ नहीं, बल्कि शुभ भी होता है।

अगर मान्यताओं पर यकीन करें तो अगर आप किसी काम से बाहर जा रहे हों और बिल्ली बाईं तरफ से रास्ता काटती हुई दाईं तरफ जाए तो इसे अशुभ संकेत माना जाता है और अगर इसका उल्टा होता है तो ये एक शुभ संकेत है।

अगर बिल्ली घर के बाहर रोए तो ये घर पर विपत्ति आने का संकेत होता है और वहीं बिल्लियों के लड़ने का संकेत होता है कि घर में आर्थिक हानि हो सकती है। बिल्ली को राहु ग्रह की सवारी माना जाता है, कहा जाता है कि अगर बिल्ली रास्ता काट जाए तो चोट लग सकती है। बिल्ली से जुड़ी और भी कई शकुन-अपशुकन संबधी धारणाएं भी हैं।

ऐसा भी कहा जाता है कि अगर बिल्ली घर में रखा दूध चोरी से पी जाए तो ये रूपये पैसे की हानि की तरफ इशारा हो सकता है।

इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति बीमार है और उसके ऊपर बिल्ली कूद जाए तो ये उस व्यक्ति की बीमारी और बढ़ने की तरफ इशारा है।

अगर नींद में बिल्ली किसी व्यक्ति का सिर चाट जाए तो ये भी अच्छा संकेत नहीं समझा जाता है।

बिल्ली से जुड़ी ये मान्यताएं, शकुन-अपशकुन बड़े ही अजोबीगरीब हैं जिनके बारे में आप सोच नहीं सकते, जिनकों तर्क-वितर्क के तराजू में नहीं तोल सकते लेकिन फिर भी ये बातें दुनिया में मौजूद है।

लॉजिक के बंधन में ना बंधने वाली ये बातें, हर वक्त में, हर जगह पर कही सुनी और मानी भी जाती हैं। खैर आप इन बातों को मानें या ना मानें ये पूरी तरह से आपकी च्वॉइस है लेकिन हां ये बात जरूर सच है कि शास्‍त्रों में बिल्‍ली से जुड़े शकुन और अपशकुन की बात कही गई है।

अगर आप इन पर विश्‍वास करते हैं तो इसमें आपकी ही भलाई है।

Don't Miss! random posts ..