ENG | HINDI

बड़ा खुलासा ! 5 कारण – कश्मीर में भारत माता की जय बोलना क्यों पाप है?

कश्मीर में भारत माता की जय

कश्मीर में भारत माता की जय बोलना पाप हो जायेगा ऐसा किसी ने सोचा नहीं था.

लेकिन अचानक ऐसा क्या हो गया है कि भारत के झंडे कश्मीर में नहीं लहराए जा सकते हैं.

तो आइये पढ़ते हैं वह 5 कारण कि आखिर क्यों कश्मीर के अन्दर भारत माता की जय बोलना पाप हो गया है, जिसके कारण वहां की सरकार और पुलिस ‘जय’ बोलने वाले भारतीय लोगों पर अत्याचार कर रही है-

1.  क्योकि अब वहां कश्मीरी पंडित नहीं है

कश्मीर में भारत माता की जय तभी तक बोली जा सकती थी जब तक वहां पर कश्मीरी पंडित थे. अब जब वहां कश्मीरी पंडित नहीं है अर्थात हिन्दू ही नहीं हैं तो वहां पर भारत माता की जय बोलना या भारत का झन्डा फहराना एक पाप ही है. आज जो आवाज भारत की माता की जय बोलने पर कश्मीर में उठ रही है काश कि यही आवाज तब उठती जब कश्मीरी पंडितों को मारा जा रहा था तब शायद आज यह दिन नहीं देखना पड़ता.

2.  क्योकि पाकिस्तान को यह नारे पसंद नहीं हैं

अब क्योकि पाकिस्तान को भारत माता की जय के नारे पसंद नहीं हैं इसलिए यहाँ के कई राजनेता जो पाक की रोटी चबा रहे हैं उनके लिए यह नारे देशद्रोह हैं. पाकिस्तान के साथ यह लोग देशद्रोह नहीं करेंगे. इसलिए भारत माता की जय बोलना कश्मीर में पाप है.

3.  क्योकि कश्मीर के लोग अभी भूखे नहीं है  

अब चुकीं कश्मीरी लोगों का पेट भरा हुआ है और भारत ने अब तक कश्मीर की आजादी और यहाँ के विकास के लिए काफी कुछ कर दिया है इसलिए यहाँ भारत माता की जय बोलना पाप है. अगर आज कश्मीर भूखा होता तो आप भारत माता की जय बोल सकते थे. याद करें जब यहाँ बाढ़ आई थी तब यहाँ भारत माता की जय बोलना पाप नहीं था.

4.  अब जब गठबंधन की सरकार है

गठबंधन की सरकार का यही रोना होता है. अब जब पीडीपी-बीजेपी का गठबंधन है तो कोई भी सरकार यहाँ भारत माता की जय बोलकर एक दुसरे से अपने रिश्ते खराब नहीं करेगी.

5.  क्योकि कश्मीर में शांति चाहिए

देश की हालत इस समय ऐसी है कि अगर कहीं भी भारत माता की जय बोली जाती है तो इससे वहां की शांति खराब होने लगती है. अभी कश्मीर में शांति है और अगर कोई भारत माता की जय बोलेगा तो इससे कश्मीर का माहौल खराब हो जायेगा. इसलिए कश्मीर में भारत माता की जय बोलना पाप ही है.

वर्तमान में इस तरह का माहौल बनाया जा रहा है कि जैसे भारत का झंडा और भारत माता की जय वह लोग बोलते हैं जो दंगा कराते हैं. लेकिन सीधे तौर पर दिख रहा है कि मुस्लिमों का इस तरह से कोई प्रयोग कर रहा है जैसे कि उनसे कोई बड़ी आग देश में लगानी हो.

इस बात को हमारे हिन्दू और मुस्लिम दोनों की धर्म के लोगों को समझना चाहिए कि देश का ध्यान विकास पर है तो कुछ लोग विकास से खुश नहीं हैं और वह देश की केंद्र सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं.

Don't Miss! random posts ..