ENG | HINDI

आपको ख़ूबसूरत सेलीब्रिटी बनना है तो आजीवन दर्द को देना होगा न्योता!

Katrina-Kaif

आजकल कोई भी ख़ूबसूरत बन सकता है.

वो जमाना गया जब यह कहा जाता था कि, भगवान कि देन होती है सुंदरता. आपको जैसा रंग रूप चाहिए वैसे सब आप हासिल कर सकते हो. बशरते आपकी जेब मोटी हो और सहनशीलता काफी हो. तब आप सहज ख़ूबसूरत बनकर सेलीब्रिटी जैसे मशहूर हो पायेंगे.

खुबसूरत कौन नहीं दिखना चाहता, कौन नहीं चाहता की उसे देख कर लोग आहे भरे. बच्चो से लेकर बुजुर्गो तक सभी को सुंदर दिखने की चाह होती है. क्या बूढ़े क्या बच्चे सब इसी रेस में है. सुन्दर व्यक्तित्व कि आशा बचपन से ही मन में उमड़ने लगती है. ख़ास करके यह आशा कुछ दशकों में टूल पकडती दिखाई दे रही है. बच्चे जब खिलौने से खेलते है तो उनके हाथो में आकर्षक खिलौने दिए जाते है. जैसे कन्या को बार्बी डॉल और लड़के को शक्तिमान जैसे खिलौने दिए जाते थे.

समय के साथ कुछ बदलाव भी इस में आते रहे है. बच्चे खिलौने से नफ़रत और टेलीविजन पर कार्टून नेटवर्क के दीवाने हो गए. ऐसे में उनके सामने  ख़ूबसूरत एरियल जैसे अनगिनत सुंदर पात्र लाकर रख दिए. इनसे प्रेरित बच्चे धीरे धीरे वैसे ही बर्ताव करने लगे है. आखिर में विडियो, संगणक और मोबाईल गेम्स पर भी ऐसे किरदार उतारे गए है. इनसे होता यह है, बच्चों को समझ नहीं आता की सुंदरता अंदर से होती है ना की शारीरिक दिखावे से. यही एक बड़ी वजह है वो अपने मन पसंदिता पात्र के समान दिखना चाहते है. और आगे चलके वो कॉस्मेटिक सर्जरी करते है. इसका प्रमाण अमेरिका में सबसे जादा पाया जा रहा है, ख़ास करके १३ से 19 आयु के बच्चों में.

Shaktiman

1 2 3 4 5 6 7 8

Don't Miss! random posts ..