ENG | HINDI

कभी चने बेचने वाला अलोम कैसे बन गया बांग्‍लादेश का सुपरस्‍टार

बांग्‍लादेश का सुपरस्‍टार

बांग्‍लादेश का सुपरस्‍टार कहे जाने वाले अलोम का असली नाम अशरफुल आलम सईद है। उनका जन्‍म एक बेहद गरीब परिवार में हुआ था और उनके पिता चने से बनी एक डिश चनाचूर बेचकर अपने परिवार का गुज़ारा करते थे।

अलोम के दस साल के होने पर उनके पिता ने उनकी मां को छोड़कर दूसरी शादी कर ली।

बेहद गरीब परिवार से होने के कारण अलोम को भी चनाचूर बेचना पड़ा था और काम के चलते और पैसों की तंगी की वजह से वो अपनी पढ़ाई भी पूरी नहीं कर पाए। सातवीं कक्षा में फेल होने के बाद अलोम ने पढ़ाई छोड़कर सीडी और कैसेट्स का बिजनेस शुरु किया। जब से बिजनेस भी नहीं चला तो अलोम ने केबल नेटवर्क का काम शुरु किया। इस बिजनेस में अलोम महीने में सिर्फ 70-80 रुपए ही कमा पाते थे।

अलोम के परिवार में उनकी पत्‍नी सूमी अख्‍तर और एक बेटा अबीर और एक बेटी अलो है।

अलोम ने बताया कि एक बार उन्‍होंने कैसेट्स पर मॉडल की तस्‍वीर देखी और बस तभी ठान लिया कि अब वो भी मॉडल ही बनेंगें।

2008 में अलोम ने खुद अपना म्‍यूजिक वीडियो बनाकर अपने ही लोकर केबल टीवी नेटवर्क पर इसे प्रसारित कर दिया। इस वीडियो को लोगों ने खूब पसंद किया और इस तरह धीरे-धीरे अलोम पूरे बांग्‍लादेश में लोकप्रिय हो गए।

बांग्‍लादेश में फेमस होने के बाद अलोम का वीडिया यूट्यूब पर आया और इसके बाद तो अलमो इंटरनेट सेंसेशन ही बन गए।यूट्यूब पर वीडियो देखने के बाद अलोम के पास खूब काम आया। फिलहाल अलोम के पास एक शॉर्ट फिल्‍म, दो टीवी शो और दो टीवी कमर्शियल में काम करने का ऑफर है।

बांग्‍लादेश का सुपरस्‍टार अलोम का अब तक का सफर काफी मुश्किलों से भरा रहा है लेकिन आज उनकी कामयाबी देखकर लगता है कि उनकी मेहनत रंग ले आई है। अलोम को देखकर आपको भी विश्‍वास नहीं होगा कि ऐसी रूप-रंगत रखने वाला शख्‍स भी सुपरस्‍टार बन सकता है।

Don't Miss! random posts ..