ENG | HINDI

भारत के इस प्रसिद्ध मंदिर पर हुआ वानाक्राई रैंसमवेयर का हमला !

वानाक्राई रैंसमवेयर

वानाक्राई नाम के एक रैंसमवेयर के कारण पूरे विश्व में दहशत फैली हुई है.

अबतक 150 देशों के करीब 10,000 संस्थाएं और करीब डेढ़ लाख लोग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं जिसमें भारत भी शामिल है. इस वायरस के बारे में नई खबर यह  कि अब यह बड़े-बड़े संस्थाओं के साथ भारते के बड़े धार्मिक स्थलों को भी निशाना बनाने लगा है.

इसके जद में जो सबसे पहला धार्मिक स्थल आया है वह है तिरुमाला तिरुपति का प्रसिद्ध देवस्थानम मंदिर.

ज्ञात हो कि रैंसमवेयर एक ऐसा कंप्यूटर वायरस है जो कि किसी कंप्यूटर सिस्टम को अगवा कर उसके यूजर से फिरौती की मांग करता है.

फिरौती न दिए जाने की सूरत मे कंप्यूटर सिस्टम लॉक ही रहता है और उसका मालिक उस कंप्यूटर मे सेव न किसी डाटा तक पहुंत पाता है न ही वह कोई ऐप खोल पाता है.

वानाक्राई रैंसमवेयर ने तिरुपति मंदिर के कम से कम 30 कंप्यूटर्स क प्रभावित किया है.

तिरुपति मंदिर मं करीब 2000 कंप्यूटर हैं जिनमें 500 का इस्तेमाल ऑनलाइन बुकिंग और भक्तों को अन्य ऑनलाइन सेवाएं देने के लिए किया जाता है.

वानाक्राई रैंसमवेयर

हालांकि मंदिर प्रशासन का कहना है कि रैंसमवेयर के हमले में मंदिर के मुख्य वेबसाइट को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है और ना इस हमले में किसी महत्वपूर्ण डाटा को क्षति पहुंची है.

फिलहाल साइबर पुलिस की टाम इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है.

खबर यह भी है कि रैनसमवेयर ने जिन कंप्यूटर्स को प्रभावित किया है उनमे विंडोज एक्सपी ऑपरेटिंग सिस्टम के पाइरेटेड वर्जन का प्रयोग में थे. हांलाकि मंदिर प्रशासन ने अब यह स्पष्ट किया है कि मंदिर के सभी कंप्यूटर्स में माइक्रोसॉफ्ट की ओर से जारी अपडेट लोड कर दिए गए हैं.

गौरतलब है कि माइक्रोसॉफ्ट ने वानाक्राई रैंसमवेयर के हमले के बाद बयान दिया था कि उसन अपने ग्राहकों को इसतरह के हमले से बचाने वाले सिक्योरिटी अपडेट मार्च में ही जारी कर दिए थे. अपडेट माइक्रोसॉफ्ट सिस्टम रैंसमवेयर से प्रभावित नहीं हुए हैं.

Don't Miss! random posts ..