ENG | HINDI

ये हैं देश के टॉप 7 बाबा जिनकी काम वासना और फर्जीवाड़े ने उन्हें पहुंचाया सलाखों के पीछे !

बाबा जो पहुंचे सलाखों के पीछे

बाबा जो पहुंचे सलाखों के पीछे – भारत में अगर आप एक बाबा को ढूंढने निकलेंगे तो ना जाने आपको कितने बाबा मिलेंगे, जो अपनी दैवीय शक्तियों का हवाला देकर चमत्कार दिखाने का दावा करते हैं.

इन बाबाओं के भक्त उन्हें भगवान का दर्जा देते हैं लेकिन इन बाबाओं को देखिए अपने भक्तों के विश्वास और उनकी आस्था को किस तरह से शर्मसार कर देते हैं.

बाबागिरी की आड़ में ये बाबा रेप, मर्डर और धोखाधड़ी जैसे कई संगीन अपराधों को अंजाम देते हैं. लेकिन कहते हैं ना हर किसी को अपने किए का फल एक दिन भुगतना ही पड़ता है.

आज हम आपको देश के 7 ऐसे बाबा जो पहुंचे सलाखों के पीछे – ऐसे धर्म गुरुओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने सालों तक ना सिर्फ अपने भक्तों को ठगा बल्कि अपनी कामवासना और फर्जीवाड़े के खेल के चलते पहुंच गए सलाखों के पीछे.

बाबा जो पहुंचे सलाखों के पीछे –

1- बाबा गुरमीत राम रहीम

बाबा गुरमीत राम रहीम को अपनी दो शिष्याओं के साथ 18 साल पहले दुष्कर्म करने और आपराधिक धमकी देने के मामले में 20 साल की सजा सुनाई गई है. इसके साथ ही उनपर 30 लाख रुपये की जुर्माना भी लगाया गया है.

आपको बता दें कि डेरा प्रमुख को दोनों मामलों में 10-10 साल की जेल की सजा हुई है जिसे बारी-बारी से भुगतना होगा. इससे पहले भी उनपर कई तरह के आरोप लग चुके हैं.

2- नित्यानंद स्वामी

नित्यानंद स्वामी दक्षिण भारत के मशहूर धर्मगुरु हैं जो अपने कई आश्रम भी चलाते हैं. साल 2010 में उनकी कथित सेक्स सीडी सामने आई थी और उनपर आरोप लगा था कि वीडियों में वो एक एक्ट्रेस के साथ शारीरिक संबंध बना रहे हैं.

हालांकि बाद में इस सीडी की जांच हुई और फोरेंसिक लैब ने इस सीडी को सही बताया. उन्हें अपनी काम वासना के चलते जेल की सलाखों के पीछे जाना पड़ा लेकिन कुछ दिन बाद उन्हें जमानत मिल गई.

3- स्वामी परमानंद

राम शंकर तिवारी ऊर्फ स्वामी परमानंद को सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप में पिछले साल ही यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था. आरोप के मुताबिक बाबा उन महिलाओं को अपना शिकार बनाता था जो मां ना बन पाने के कारण परेशान रहती थीं.

स्वामी परमानंद ऐसी महिलाओं के इलाज के नाम पर उनके साथ अपनी इस घिनौनी करतूत को अंजाम देता था. हालांकि आरोपी बाबा ने खुद पर लगे इन आरोपों से इंकार किया है.

4- स्वामी भीमानंद महाराज

चित्रकूट के चमरोहा गांव के निवासी स्वामी भीमानंद महाराज को साल 1997 में दिल्ली के लाजपत नगर से गिरफ्तार किया गया था. भीमानंद महाराज पर देशभर में व्यापक स्तर पर सैक्स रैकेट चलाने का आरोप लगा था. हालांकि जब स्वामी भीमानंद महाराज जेल से बाहर आया तब खुद को साईं बाबा का शिष्य बताने लगा.

5- आसाराम बापू

नाबालिग लड़की से रेप के मामले में जेल की सजा काट रहे आसाराम बापू के खिलाफ कई अपराधिक मामले दर्ज हैं. फिलहाल राजस्थान के जोधपुर जेल में आसाराम अपने कुकर्मों की सजा काट रहे हैं.

आसाराम के खिलाफ गैरकानूनी रुप से जमीन हथियाने, तंत्र-मंत्र के लिए बच्चों की हत्या करने, रेप करने सहित अन्य कई मामलों में पुलिस जांच कर रही है.

6- बाबा रामपाल

63 साल के ठगी बाबा रामपाल पर पिछले कई सालों से मासूम जनता को बहकाकर उनसे गलत काम करवाने का आरोप है. इसके अलावा बाबा रामपाल अपने आश्रम में कई महिलाओं और बच्चों को कैद करके रखने का गुनहगार भी है.

रामपाल पर साल 2006 में अपने समर्थकों द्वारा रोहतक के एक गांव के लोगों पर गोली चलवाने का आरोप है. इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे. फिलहाल रामपाल जेल की सलाखों के पीछे था जो अब छुट चूका है .

7- राधे मां

रातों रात नाम और शोहरत पाने वाली राधे मां का जीवन विवादों से घिरा रहा है. राधे मां पर सेक्स रैकेट चलाने से लेकर दहेज मांगने और धोखाधड़ी करने तक के आरोप लग चुके हैं इसके अलावा फ्लाइट में त्रिशूल ले जाने के मामले में भी वो फंस चुकी हैं.

इन सांसारिक विवादों के अलावा जूना अखाड़े द्वारा उन्हें महामंडलेश्वर की उपाधि देना भी विवादों में आ गया, जिसके बाद उनसे यह उपाधि वापस ले ली गई.

ये है वो बाबा जो पहुंचे सलाखों के पीछे –  सालों से लोगों के विश्वास और आस्था से खिलवाड़ करनेवाले देश के इन विवादित बाबाओं की पोल देर से ही सही लेकिन उनकी जनता के सामने खुल ही गया.

Don't Miss! random posts ..