ENG | HINDI

‘बाबा’ ऐसे खड़ा कर लेते हैं बिजनेस एम्पायर, काम करते हैं ये 4 फैक्टर

बाबाओं की दौलत

बाबाओं की दौलत – अंधविश्वासियों पर विश्वास कर लेना हमारे देश में आम बात बन चुका है जिसका फायदा कई अपराधियों ने उठाया है.इन सभी ने बाबा के भेस में पूरे देश को चुना लगाया है. यहाँ तक की जब इनकी असलियत सामने आई तब भी लोगों ने इन पर विश्वास करना नहीं छोड़ा. और यहाँ तक की भारतमें बाबाओं और ढोंगियों का आरोपों के बाद भी कारोबार खूब फल-फूल रहा है. बाबाओं की दौलत बढ़ रही है.

देश में ऐसे कई बाबा हैं जो हज़ारों-करोड़ों के मालिक हैं. इन बाबाओं में से टॉप पर हैं योग गुरु रामदेव बाबा हैं.

पतंजलि को खड़ा कर रामदेव बाबा ने विदेशी ब्रांड्स के पसीने छुड़ा दिए हैं. रेप के आरोप में जेल की सज़ा काट रहे राम रहीम भी 150 से ज्‍यादा एफएमसीजी प्रॉडक्‍ट्स बेच रहे हैं.

दोस्‍तों, आज हम आपको बताएंगें कि आखिर किस तरह ये बाबा इतने हज़ारों-करोड़ों का अंपायर खड़ा कर लेते हैं और बाबाओं की दौलत बढती जाती है.

बाबाओं की दौलत

प्रमोशन

मॉडर्न बाबा अब लॉन्‍च करते हैं अपने प्रॅाडक्‍ट्स जैसे साबुन, टूथपेस्‍ट, मसाले, आटा और दाल-चावल आदि जिनके जरिए उन्हें देश भर में नाम कमाने का मौका मिल जाता है. आम आदमी की जरूरतों का सामान बनाकर ये बाबा उनकी नज़रों में महान बन जाते हैं. बाबा राम रहीम के 150 से ज्‍यादाप्रॉडक्‍ट्स हैं जिन्‍हें उनके फॉलोअर्स खरीदते हैं. श्री श्री रवि शंकर ने भी अपने फॉलोअर्स के लिए प्रॉडक्‍टलॉन्‍च किए हैं.

विश्वास हासिल करना

आजकल बाबा पैसा कमाने के लिए सबसे पहले लोगों का भरोसा जीतते हैं. सबसे पहले रामदेव बाबा ने फ्री में योग सिखाया और फेमस होने के बाद अपने आश्रम में हज़ारों की फीस रख दी. राम रहीम के फॉलोअर्सज्‍यादातर अनपढ़ लोग हैं. उन्‍होंने पहले लोगों की मदद करके उनका भरोसा जीत लिया.

जान-पहचान

इन बाबाओं के लिए इनके फॉलोअर्स से ज्‍यादा ईमानदार और कोई नहीं होता है.इन्‍हीं के ज़रिए बाबा माउथपब्‍लिसिटी द्वारा अपने प्रॉडक्‍ट्स लोगों तक पहुंचाते हैं.फॉलोअर्स का नेटवर्क ही उनका सबसे बड़ा हथियार होता है और इसी की मदद से बाबा अपना बिजनेसअंपायर खड़ा कर पाते हैं.

फॉलोअर्स का हाथ

सभी बाबाओं की सफलता के पीछे उनके लाखों-करोड़ाफॉलोअर्स का हाथ है. देश के नेता तक लोगों की मुश्किलों को दूर नहीं कर पाते हैं लेकिन ये बाबा अपने पैसे से लोगों के साथ जुड़ जाते हैं और उनकी परेशानी दूर करते हैं जिससे लोगों की इनमें आस्‍था बढ़ जाती है.

इस तरह भारत में बाबाओं का कल्‍चर फल-फूल रहा है और ये बाबा अपनी पॉवर और पैसे से देश को भ्रष्‍ट बनाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. ना जाने ऐसे कितने ही बाबा होंगें जो रेप, मर्डर और कई तरह के अपराधों के जुर्म में जेल में बंद पड़े हैं.

बाबाओं की दौलत

बाबाओं की दौलत

इस तरह से बढती है बाबाओं की दौलत –  देखा जाए तो इन सभी में उनकी मदद कही ना कही हम लोगों ने और हमारे करपट मीडिया ने की है, मीडिया ही वो जरिया है जिसकी वजह से ये ढोंगी बाबा न्यूज में आते हैं और हम सभी उन न्यूज को देखते हैं. ऐसे करते-करते मीडिया पैसे कमाने के लिए जानबूझकर ऐसे लोगों को और प्रमोट करता है, इसका एक बहुत बड़ा उदाहरण है राधे माँ.

बाबाओं की दौलत

Don't Miss! random posts ..