ENG | HINDI

देखिए यही है वो गाय जिससे आजम खान को डर लगता है क्योंकि…

आजम खान का गाय लौटना

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के विधायक और पूर्व मंत्री आजम खान इस काली गाय से इस कदर डरे हुए है कि अब वो अपने घर रखने से भी डर रहे हैं.

हाल ही में आजम ने डर कर उस गाय को उसके पुराने स्वामी को वापस कर दिया.

गौरतलब हो कि आजम खान को शंकराचार्य अधोक्षजानंद ने करीब डेढ़ साल पहले एक काली गाय दी थी, जिसे उन्होंने शंकराचार्य अधोक्षजानंद को वापस लौटा दिया है. आजम को डर है कि अगर ये गाय उनके घर पर रहेगी तो उन पर किसी भी वक्त गौरक्षकों का हमला हो सकता है, क्योंकि इन दिनों गाय ले जाने को लेकर मस्लिमों से गौरक्षकों द्वारा सवाल जवाब किए जाते हैं.

आजम खान का गाय लौटना

आजम खान का गाय लौटना एक तंज है कि यदि यह गाय उनके घर पर रहेगी तो हो सकता है कि कल कोई गौरक्षकों का दल उनके घर भी धावा बोल दे.

हाल ही में राजस्थान के अलवर में हरियाणा के मेवात के कुछ मुस्लिमों द्वारा गाय ले जाने को लेकर गौरक्षकों ने उनसे पूछताछ की थी. जिसमें उनके जवाब से असतुंष्ट होकर उन्होंने उनके साथ मारपीट की, जिसमें एक मुस्लिम व्यक्ति की मौत हो गई.

वहीं आजम खान का गाय लौटना राजस्थान में कथित गोरक्षकों की ओर से कुछ मुसलमानों पर हुए हमले के बाद लिया गया फैसला है. हालांकि बता दें कि आजम खान का गाय लौटना – आजम खान का शंकराचार्य को गाय लौटाना एक राजनीति स्टंट है.

इसके जरिए वो मुस्लिम समुदाय में सहानुभति बटोरकर न केवल उनकी रहनुमाई दावा ठोक रहे हैं बल्कि मीडिया की सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं. आपको बता दें ये कोई पहला मौका नहीं जब आजम खान ने इस प्रकार की हरकत की हो.

इसके पहले भी यूपी में नौएडा के बिसहड़ा गांव में गौवंश काटने को लेकर हुई अखलाक की हत्या में यूएन को भी पत्र लिख चुके हैं.

वहीं आजम को गाय गिफ्ट करने वाले शंकराचार्य अधोक्षजानंद का कहना है कि आजम खान को ये गाय साल 2013 में इलाहाबाद में आयोजित कुंभ की बेहतर व्यवस्था करने के लिए दी गई थी.

शंकराचार्य का दावा है कि आजम खान खुद भी काली गाय की सेवा करना चाहते थे, इसलिए उनको ये गाय दी गई थी.

बहराल, ये ओर बात है कि जिस गाय की आजम सेवा करने चाहते थे आज उनको उस गाय में यमराज नजर आ रहे हैं.

Don't Miss! random posts ..