ENG | HINDI

जानिए कहाँ हो रही है आजम खान की हत्या की साजिश !

आजम खान की हत्या

आजम खान की हत्या – योगी सरकार जबसे सत्ता में आई है तभी से कई पुराने नेता चिंता में डूबे हुए हैं.

कई नेता तो ऐसे हैं जो पहले तो काफी लोगों से दुश्मनी कर बैठे थे और अब उनकी जान निकली जा रही है. मुख्यमंत्री योगी ने अब उत्तर प्रदेश के कई पूर्व मंत्रियों की सुरक्षा इंतजामों को भी खत्म करना शुरू कर दिया है. असल में मुख्यमंत्री जी को ऐसा लगता है कि पूर्व सरकार ने कुछ लोगों को ज्यादा ही सुरक्षा दे रखी थी.

अब जनता के पैसों को इस तरह से भी तो खराब नहीं होने देना है ना.

इसलिए अब कई लोगों को दिखाने और शौक के लिए दी गयी सुरक्षा भी कम की जा रही हैसमाजवादी पार्टी के फायरब्रांड तथा बेहद बड़े बोल बोलने वाले नेता आजम खान अब बेहद डरे हुए हैं. क्योंकि आजम खान की हत्या की बत्तें हो रही है. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रदेश में सौ से अधिक लोगों की सुरक्षा कम करने से आजम खान बेहद डरे हैं. 

आजम खान ने कहा कि इतिहास गवाह है कि जिसकी सुरक्षा कम की गई, उसकी हत्या हो गई है. आजम खान  ने कहा कि अब तो मेरी भी हत्या कराई जा सकती है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी के साथ ही प्रदेश में अन्य कई बड़े नेताओं की सुरक्षा को या तो कम कर दिया है या फिर हटा दिया है. आजम खान भी जेड श्रेणी की सुरक्षा में चलते थे. अब उनकी सुरक्षा का दायरा कम किया गया है.

आइये अब आपको पढ़ाते हैं कि आजम खान  ने क्या ब्यान दिया है

सुरक्षा में कमी किए जाने पर सपा विधायक आजम खान बोले कि सुरक्षा भी किसी मकसद से कम की होगी. इतिहास गवाह है कि जिनकी सुरक्षा कम हुई, उन्हें बाद में मार दिया गया है. एक दिन पहले ही मुझे बाहर के राज्य से आया एक पत्र मिला है, जिसमें धमकी दी गई है. यह भी इत्तेफाक है कि कल ही सुरक्षा के कम होने की भी जानकारी मिली. मैंने एसपीसाहब को जांच के लिए पत्र दे दिया है. जिसकी जांच एसपी ने एएसपी तारिक मुहम्मद को सौंपी है. 

अब मुद्दा यह है कि  आजम खान को समझ नहीं रहा है कि उन्होंने कभी इस तरफ ध्यान नहीं दिया था कि उनकी सुरक्षा भी कम हो सकती है. वैसे आजम खान की हत्या क्यों हो सकती है ! आजम खान जैसे नेक नेता को भी कोई मारना चाहेगा, यह बात किसी के हजम नहीं हो रही है.

कुछ लोग तो यहाँ तक बोल रहे हैं कि जान से इतना प्यार था तो नेता लोग ऐसे काम ही क्यों करते हैं. जान देख लो या अंजाम देख लो. वैसे इतना तो निश्चित है कि समाजवादी पार्टी के कई नेताओं के अब दिखावे के दिन खत्म होने वाले हैं. लाल बत्ती में चलने और वीआईपी दिखने वाले नेता अब घर से निकलने में भी घबरा रहे हैं.

Don't Miss! random posts ..