ENG | HINDI

भारत के एक आयुर्वेदिक मसाज ने इस नन को बना दिया कामसूत्र की रानी

डमचो डायसन

डमचो डायसन नाम की एक नन की जिंदगी भारत के एक आयुर्वेदिक मसाज ने बदल दी।

नन रह चुकीं डमचो दलाई लामा की अटेंडेंट के रूप में काम करती थीं। नन के रूप में काम करते समय डमचो की लाइफ काफी साधारण और ईश्‍वर को ही समर्पित रहती थी लेकिन भारत की यात्रा ने उनकी जिंदगी को पूरी तरह से उलट कर रख दिया।

मेलबर्न से था ताल्‍लुक

डमचो डायसन ने दस साल तक मेलबर्न में एक नन के रूप में काम किया है लेकिन इस काम में उनका मन नहीं लगता था। अपने मन में बार-बार जलते एक सवाल का जवाब ढूंढने के लिए डमचो डायसन भारत की यात्रा पर आईं और यहां एक मसाज ने उनकी जिंदगी को एक नई दिशा दे दी। डमचो का कहना है कि भारत यात्रा के दौरान एक आयुर्वेदिक मसाज से उनकी काम वासना फिर से जाग उठी और इसके बाद वे ब्रिटेन की मशहूर नॉटी नन के रूप में मशहूर हो गईं।

2011 तक डमचो डायसन को दुनिया के लैटेक्‍स और कामसूत्र क्‍लब में जाना जाने लगा।

डमचो ने अपनी एक पोस्‍ट में इस बात का खुलासा किया था कि ‘एक बार उन्‍हें ये अहसास हुआ कि उनका दिमाग और शरीर एक-दूसरे से जुड़ा हुआ है।’  उनका शरीर जो चाहता है उनके दिमाग में वही विचार आते हैं। डमचो डायसन कहती हैं कि नन का काम करते हुए अचानक से उन्‍हें अपने शरीर में प्राणों का बोध हआ और फिर उन्‍होंनें मोनेस्‍ट्री छोड़ने का फैसला लिया।

डमचो डायसन बताती हैं कि नन का काम छोड़कर ब्रिटेन और पब्‍स से जुड़ने का ज़रिया उन्‍हें अपनी भारत की यात्रा के दौरान ही मिला। अपने गर्भपात के बाद वो तो एक नन के रूप में साधारण जीवन जीने के लिए तैयार थीं किंतु एक भारतीय मसाज ने उनकी कामवासना को फिर से जगा दिया और इसी कारण आज वो यहां पर हैं।

डमचो डायसन अब अपनी पढ़ाई पर ध्‍यान देनी चाहती हैं। अब वह पीएचडी करना चाहती हैं और इसके लिए अब वो पैसे जुटाने में लगी हुईं हैं।

Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..