ENG | HINDI

इस बॉलीवुड अभिनेता को तीन साल तक नहीं मिली थी एक भी फिल्म

अरशद वारसी

मुन्ना भाई एमबीबीएस फिल्म का एक डॉयलॉग ‘भाई, टेंशन नहीं लेने का’।

फिल्म में यह डायलॉग बोलने वाले अरशद वारसी खुद अपने कैरियर के शुरुआती दिनों में तीन साल तक टेंशन लेते रहे।

मुन्ना भाई एमबीबीएस फिल्म अरशद वारसी के लिए बहुत ही खास रही। खास इस वजह से भी कि इसी फिल्म के बाद अरशद ने बॉलीवुड में दोबारा इंट्री की। अरशद का बॉलीवुड बैकग्राउंड नहीं है इस वजह से उन्हें अन्य कलाकार से ज्यादा मेहनत करनी पड़ी । अपने टैलेंट पर उन्हें पूरा विश्वास था तभी वो तीन साल तक काम न मिलने के बाद भी परेशान नहीं हुए बल्कि मेहनत करते रहे।

अरशद वारसी देखने में आम हैं लेकिन उनका हुनर बहुत खास है।

अरशद वारसी ने बॉलीवुड के कई ऑफबीट फिल्मों पर भी काम किया लेकिन मुन्ना भाई एमबीबीएस से उन्हें नई राह मिली।

इसके बाद इश्कियां और गोलमाल ने उनके टैलेंट को पूरी तरह से निखार दिया।

जौली एलएलबी में उनके अभिनय को सभी ने देखा भी और खूब सराहा भी। इस फिल्म में उन्होंने साबित कर दिया कि वो सपोर्टिंग हीरो ही नहीं बल्कि मुख्य किरदार के रुप में भी अच्छा अभिनय कर सकते हैं।

ज्यादातर लोगों को पता ही नहीं है कि अरशद वारसी ने 1996 में फिल्म ‘तेरे मेरे सपने’ से अपने बॉलीवुड कैरियर की शुरुआत की।

यह फिल्म तो हिट हो गई लेकिन इसके बाद कई फिल्म अरशद वारसी की फ्लॉप हो गई, जिससे उनका कैरियर भी फ्लॉप हो गया। इसके बाद उन्हें पहले से भी ज्यादा मेहनत बॉलीवुड में अपनी वापसी के लिए करनी पड़ी।

अरशद वारसी आज जो भी हैं उसके लिए अरशद की मेहनत के साथ साथ उनकी पत्नी मारिया का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। अरशद के पास जब काम नहीं था तब मारिया ने नौकरी कर खर्चा चलाया। तीन साल तक मारिया बिना कुछ कहे खर्चा उठाती रही और अरशद को सहयोग देती रही।

अरशद वारसी मारिया के इस साथ को कभी नहीं भुला सकते।

Don't Miss! random posts ..