ENG | HINDI

किसके कहने पर अनूप जलोटा ग़ज़ल छोड़कर भजन गाने लगें ?

भजन सम्राट अनूप जलोटा

भजन सम्राट अनूप जलोटा – भारत के भजन सम्राट को दुनिया सलाम करती है.

भजन सम्राट अनूप जलोटा अपने भजन के लिए दुनिया में फेमस हैं. ऐसी लागी लगन… मीरा हो गई मगन, इस भजन के बजाते ही अनूप जलोटा का चेहरा सामने आ जाता है.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि अनूप जलोटा भजन गाने से पहले ग़ज़ल गया करते थे?

भजन सम्राट अनूप जलोटा

जी हाँ, बिलकुल सही सुना आपने. अनूप जलोटा ने अपने करियर की शुरुआत ग़ज़लों से की. वो बड़ी बड़ी महफ़िल में अपनी ग़ज़ल से लोगों का मन मोह लेते थे. उनकी ग़ज़ल के लोग दीवाने थे. ऐसी कोई महफ़िल नहीं सजाती थी, जहाँ अनूप जलोटा के ग़ज़लों का स्वर न गूंजता हो.

अब बात ये आती है कि आखिर अनूप जलोटा ने ग़ज़ल छोड़कर भजन गाना क्यों शुरू कर दिया?

कौन था वो, जिसक कहने पर अनूप जलोटा ग़ज़लों से अपना नाता तोड़ भगवान की भक्ति में भजन गाने लगें.

ग़ज़लों के बेताज बादशाह जगजीत सिंह ही वो ऐसे शख्स हैं, जिनके कहने पर अनूप जलोटा ने अपना करियर भजन में बनाया. जगजीत सिंह ने अनूप से कहा कि भारत में ग़ज़ल के प्रेमी बहुत कम हैं. यहाँ के लोग भगवान की भक्ति में अपना ज्यादा समय बिताते हैं. बेहतर होगा की भजन गया जाए.

भजन का मार्किट भारत में बहुत अच्छा है. इस विधा में पैसे के साथ साथ सम्मान भी है.

जगजीत सिंह के वचन अनूप जलोटा ने अपने कान में अच्छे से बिठा लिया. अब वो धीरे धीरे ग़ज़ल छोड़कर भजन गाने में लग गए.

अनूप जलोटा कहते हैं कि भजन गाने के बाद लोग उनके चरण छूने लगें और उनका सम्मान करने लगें. ये बात अनूप जलोटा को रास आ गई. भजन गाने से वो भगवान की पूजा भी कर लेते हैं और लोगों का सम्मान भी उन्हें मिल जाता है. अनूप जलोटा कहते हैं कि भजन के माध्यम से वो भगवान और भक्त के बीच एक कड़ी बन गए हैं.

भजन सम्राट अनूप जलोटा – इस तरह से अनूप जलोटा ग़ज़ल के इश्क्को छोड़ भजन की भक्ति में लग गाएँ. इसका गिफ्ट भी उन्हें मिल रहा है. लोगों का प्यारा और सम्मान अनूप जलोटा को खूब मिल रहा है.

Don't Miss! random posts ..