ENG | HINDI

आने वाले दिनों में मैदान-ए-जंग में भिड़ सकते हैं अमेरिका और चीन

अमेरिका और चीन

अमेरिका और चीन में पिछले कुछ महीनों से जिस तरह से तनातनी चल रही है, उससे इस बात की आशंका जताई जा रही है आने वाले कुछ सालों में अमेरिका और चीन शायद जंग के मैदान में भी भिड़ सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो पूरी दुनिया के सामने संकट खड़ा हो जाएगा.

यूरोप में अमेरिकी सेना के एक पूर्व कमांडर ने बुधवार को कहा कि इस बात की आशंका है कि अगले 15 सालों में अमेरिका का चीन के साथ युद्ध हो सकता है. रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल बेन होजेज ने कहा कि इस आशंका को देखते हुए सभी यूरोपीय देशों को रुस के साथ अपनी सुरक्षा के बारे में सोचना चाहिए.

होजेज ने वारसॉ सुरक्षा फोरम को संबोधित करते समय ये आशंका जताई. उन्होंने यह भी कहा कि जरूरी नहीं है कि युद्ध हो ही, लेकिन इस संभावना से इनकार भी नहीं किया जा सकता है. वैसे भी पिछले कुछ समय से दोनों देशों के बीच चल रहे ट्रेड वॉर से उनके बीच तनातनी पहले से कहीं ज़्यादा बढ़ गई है.

होजेज ने यह कहकर भी अमेरिका की चिंता बढ़ा दी है कि, ‘‘ चीन के खतरों से निपटने के लिए प्रशांत और यूरोप में जो कुछ किए जाने की जरूरत है, उसे करने के लिए अमेरिका के पास उतनी क्षमता नहीं है.” होजेज 2014 से पिछले साल तक यूरोप में अमेरिकी सेना के कमांडर थे. वह अभी सेंटर फॉर यूरोपीयन पॉलिसी एनालिसिस में रणनीतिक विशेषज्ञ हैं. यह वॉशिंगटन का एक रिसर्च इंस्टीट्यूट है.

अमेरिका और चीन दोनों ही खुद को सबसे ताकतवर समझते हैं और किसी के सामने झुकने को तैयार नहीं होते. अभी चल रहे ट्रेड वॉर में भी दोनों देश अड़े हुए है कोई एक-दूसरे के सामने झुकने को तैयार नहीं है. ऐसे में तो इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है कि दोनों देश भविष्य में आपस में भिड़ जाएं.

Don't Miss! random posts ..