ENG | HINDI

ओह ! तो इसलिए ऐश्वर्या राय बच्चन अपनी बेटी को हर वक़्त गोद में लिए घूमती हैं

ऐश्वर्या अपनी बेटी को हर वक़्त गोद में लिए घूमती

ऐश्वर्या अपनी बेटी को हर वक़्त गोद में लिए घूमती – माँ बनना हर नारी के लिए एक ऐसा अनुभव और एहसास है, जिसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता.

हर लड़की का सपना होता है कि उसकी शादी हो और वो एक दिन इस संसार में अपने जैसा किसी को लाकर ख़ुद को नया जीवन दे. जन्म देने का एहसास आम से लेकर ख़ास तक होता है. मातृत्व को बॉलीवुड की हसिनाएं भी जमकर एंजॉय करती हैं. हाल ही में मां बनी बेबो को छोड़ दें, तो बाकी सभी हीरोइनें जब मां बनीं, तो अपनी ममता को जमकर एंजॉय किया.

इनमें भी सबसे ज़्यादा पज़ेसिव दिखीं पूर्व मिस वर्ल्ड और बच्चन परिवार के बहू ऐश्वर्या राय बच्चन.

माँ बनने के बाद ऐश्वर्या का वज़न काफी दिन तक बढ़ा रहा, लेकन इसे वो छुपाने की बजाय ऐश्वर्या अपनी बेटी को हर वक़्त गोद में लिए घूमती नज़र आयी, बेटी के साथ हर इंटरनेशनल इंवेट में दिखीं. लोगों ने उनके बढ़े हुए वज़न का मज़ाक भी बहुत उड़ाया, लेकिन ऐश्वर्या ने लोगों की बातों को इग्नोर किया.

ऐश्वर्या अपनी बेटी को लेकर बहुत पज़ेसिव हैं.

ऐश्वर्या अपनी बेटी को हर वक़्त गोद में लिए घूमती नज़र आती है. यहां तक की पापा अभिषेक के साथ रहने पर भी आराध्या अपनी माँ की गोद में ही रहती है. अभी भी ऐश्वर्या बेटी को गोद में लिए ही चलती हैं. आख़िर ऐसा क्यों है, क्या है इसका कारण.

एक मीडिया इंटरव्यू में बातचीत के दौरान ऐश्वर्या ने मातृत्व से संबंधित कई बातें शेयर की थीं.

उसमें से एक था कि बच्चों के साथ वक़्त गुजारना. ऐश्वर्या ने कहा कि जब हम अपने बच्चों को गोद में लेकर कहीं आते-जाते हैं, तो इससे बच्चे और माँ के बीच अच्छी बॉन्डिंग होती है. बच्चे का कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ता है.

समय कम होने के नाते आज के पैरेंट्स के पास इतना भी समय नहीं होता कि वो अपने बच्चे के साथ क्वालिटी टाइम गुज़ार सकें. मैं नहीं चाहती कि कल को मैं काश कहूं. मैं अपनी बेोटी के साथ हर वो पल एंजॉय करना चाहती हूं, जो मैं चाहती हूं.

उसके साथ खेलना, उसे अपने हाथ से खिलाना, उसे गोद में लेना और उससे ख़ूब सारी बातें करना मुझे बहुत अच्छा लगता है. मैं दुनिया की परवाह नहीं करती कि दुनिया मेरे बढ़े हुए वज़न पर क्या कमेंट करती है. मैं तो बस अपना बचपन दोबारा जी रही हूं.

सच में ऐश्वर्या की ये बात हर मां के लिए सीख की तरह है. तो आप भी अब से अपने बच्चो के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड करें और अपने बीच की दूरी को कम करें.

Don't Miss! random posts ..