ENG | HINDI

MTNL देवता को लिखा गया एक पत्र

mtnl

मेरे प्यारे MTNL देवता,

पिछले हफ्ते कॉलेज में दिए गए प्रोजेक्ट को निर्धारित समय पर पूरा ना कर पाने की वजह से मुझे छमाही की परीक्षा में FAIL घोषित कर दिया गया. ये सब आप की मेहेरबानी के बिना बिलकुल नहीं हो पाता. राजकुमार विश्वकर्मा ४ दिन पहले कामोत्तेजना बढाने के लिए अश्लील चित्र देख रहा था. ये तो आप ही की बदौलत है कि राजकुमार विश्वकर्मा की माँ ने उसे अपने गुप्तांगों को मसलते हुए पकड़ लिया और उसकी शादी तय करवा दी.

हे MTNL देवता!

मैंने आज से 2 महीने पहले आपके नाम पर दो बकरियों का बलिदान दिया था लेकिन मुझे लगता है कि आप अभी तक प्रसन्न नहीं हुए है. अगर हमसे अतीत में कोई गलती हुई हो तो कृपया करके हमें माफ़ कर दीजिये. मेरे सारे परिवारवालों ने गंगू नाई को बुलाकर अपने बाल मुंडवा दिए और आपकी मूर्ति(modem) के सामने चढ़ा दिए. बलवंत ताउजी मुझे धैर्य का मतलब सिखाते-सिखाते अपनी शादी के इंतज़ार में परलोक सिधार गए, लेकिन मुझे धैर्य का मतलब नहीं समझा पाए. आप ही की बदौलत मैंने धैर्य का सही मतलब समझा है.

आज सुबह ही की बात है, मेरे पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने 14वीं मंजिल से छलांग लगा दी. क्यों? इसका पता अब तक नहीं लग पाया है. लेकिन उसके घर से एक पत्र बरामद हुआ जिसमें लिखा था, “प्रभु ‘MTNL’ मैं और इंतज़ार नहीं कर सकती. मैं आपके पास आ रही हूँ”. अगर वह आ गई है, तो उसको मेरा सलाम दे दीजियेगा. मेरी आपके दूतों से एक बड़ी शिकायत है.

पता नहीं क्यों आपके दूत सरकारी अधिकारियों की तरह पेश आने लगे हैं. जब हम आपकी प्रार्थना के दौरान उनसे बात करने की कोशिश करते हैं तो वे पता नहीं क्यों अकड़ दिखाते हैं. कृपया उनको फटकार लगाएं.

खैर मेरे पास लिखने को और कुछ नहीं बचा, इसलिए मैं इस पत्र को समाप्ति की ओर ला रहा हूँ. प्रभु इसी तरह आपकी कृपा हमपर बनाए रखिए! लेकिन अपनी स्पीड थोड़ी और ज्यादा बढ़ा दोगे तो शायद मानवता का और अच्छी तरह से उपकार हो सकता है.

आपका प्यारा,
भक्त.

Article Tags:
· · ·
Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..