ENG | HINDI

सालों बाद अक्षय कुमार की कुंडली में है यह शुभयोग, नहीं टिक पायेगा कोई भी इस आंधी के सामने, पढ़िए क्या बोल रही है अक्षय की कुंडली

अक्षय कुमार

प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता व एक्शन हीरो अक्षय कुमार का जन्म 9 सितम्बर 1967 को आता है.

इसके अनुसार अक्षय कुमार का जन्म कुंभ लग्न, वृश्चिक राशि में हुआ है. कुंभ लग्न वाले जातक मेहनती और ईमानदार होते हैं. शुरुआत में इनको सफलता के लिए काफी जुझना पड़ता है लेकिन एक समय के बाद इनको सफलता प्राप्त हो जाती है.

साल 2016 में बोलीवुड का कोई भी हीरो इनके आसपास भी नहीं टिक सकता है.

इस साल अक्षय कुमार जो भी काम करेंगे, उसमें सफलता मिलनी निश्चित है. हाल ही में अक्षय कुमार ने अपनी आय का एक हिस्सा जिस तरह से देश के किसानों के नाम किया है वह काबिले तारीफ है.

साल 1994 अक्षय कुमार के सिने करियर के लिए अहम साल साबित हुआ था. इसी साल उनकी ‘ये दिल्लगी’, ‘मोहरा’, ‘सुहाग’, ‘एलान’ और ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ जैसी सुपरहिट फिल्में रिलीज हुईं थी. 1994 में ही रिलीज हुई ‘मोहरा’ अक्षय के सिने करियर की सर्वाधिक सुपरहिट फिल्म रही.  तो साल 2016 को देखें तो यह साल भी कुछ-कुछ ऐसा ही जाने वाला है. शनि को छोड़ बाकी सभी सितारे, अक्षय कुमार के ही हक़ में हैं.

सालों बाद अक्षय की कुंडली में यह योग

अगर साल 2016 की बात करें तो कुंडली के तीसरे घर में अगर चन्द्रमा बैठा हुआ होता है. यह एक शुभ योग माना जाता है. इसके कारण जातक को नाम और धन दोनों की प्राप्ति होती है. तीसरे भाव का चंद्रमा होने पर जातक को पराक्रम से धन प्राप्ति, धार्मिक, यशस्वी और प्रसन्नता की प्राप्ति होती है. साथ ही साथ शुक्र जो कला के क्षेत्र का भगवान माना जाता है वह भी कुंडली के तीसरे भाव में है. इस तरह से अगर कुंडली के तीसरे घर में चन्द्रमा और शुक्र का मिलन होता है तो यह शुभ योग का निर्माण करते हैं. ऐसा योग अक्षय कुमार की कुंडली में सालों बाद उत्पन्न हो रहा है. शुक्र की वजह से इस साल के अंत तक इनकी सभी फिल्में अच्छी कमाई करने वाली रहेंगी.

हो सकता है इस साल अवार्ड ही अवार्ड मिलें

जुलाई से नवम्बर माह में अक्षय कुमार की प्रसिद्धि एवम् सम्मान में इजाफा होगा. अक्षय कुमार लंबी और सफल यात्रायें करेंगे. इनका नाम और सम्मान दोनों में बढ़ोतरी होनी निश्चित है. स्त्री वर्ग से इनको बड़ी सहायता मिलेगी. सबसे बड़ी बता यह होगी कि कोई भी अन्य फ़िल्मी सितारा इनके पास भी नहीं भटक सकता है. साथ ही साथ मंगल का कुंडली में शुभ योग साल के अंत में निश्चित रूप से अक्षय के लिए बड़ा सम्मान लेकर आयेगा.

शनि परिवार की खुशियों पर ग्रहण लगा सकता है

इस साल अक्षय कुमार की कुंडली में जो एक बड़ी समस्या है वह शनि है. शनि के कारण हो सकता है कि परिवार में किसी प्रिय के स्वास्थ्य में परेशानियाँ उत्पन्न हो जायें. यह एक तनावपूर्ण समय होगा जिसको धैर्य के साथ काटना होगा. बेहतर होगा कि आप काली चीजों का दान करें. साथ ही साथ मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर में दीया जलायें और कम से कम 5 बार दिन में हनुमान चालीसा का पाठ करें.

तो कुल मिलाकर देखा जाये तो अक्षय कुमार के लिए यह साल एक स्वर्णिम समय साबित होगा. धन और मान-सम्मान में खूब लाभ होगा. अक्षय कुमार की फिल्में इस साल अन्य फिल्मों की तुलना में बेहतर करेंगी.

Don't Miss! random posts ..