ENG | HINDI

एक साथ 15000 अंडे मंगवाए इस शख्स ने आखिर क्यों ?

15000 अंडे

क्या कभी आपने सपने में भी सोचा है कि एक साथ 15000 अंडे आ जाएं तो क्या होगा?

क्या कभी कोई इतने अंडे मंगा सकता है? होटल चाहे कितना भी बड़ा क्यों न हो, लेकिन एक दिन में इतने हज़ार अंडे मंगाना मुश्किल ही लगता है. इस मुश्किल को एक व्यक्ति ने मुमकिन कर दिया. उसने एक साथ 15000 अंडे का ऑर्डर दे दिया. हैरानी की बात तो ये है कि डिलीवरी वाले ने इतने अंडे डिलीवर भी कर दिए. जब से इन व्यक्ति ने अंडे मंगवाए हैं तब से सोशल मीडिया से लेकर सभी न्यूज़ वेबसाइट पर इसके ही चर्चे हैं.

लोग ये सोचने को मजबूर हो गए हैं कि भला इतने अंडे भी कोई मंगवा सकता है.

आखिर ऐसी क्या ज़रूरत पड़ गई कि एक साथ इतने अंडे मंगवाने पड़े. तो चलिए हम आपको बता देते हैं. असल में विंटर ओलंपिक्स के लिए दक्षिण कोरियाई शहर प्योंगचांग पहुंची नॉर्वे की टीम  पहुंची है.

इन लोगों के नाश्ते के लिए ये अंडे मंगवाए गए थे.

आप हैरान हों इससे पहले हम आपको बता दें कि अंडे का ये आर्डर गलती से पोस्ट हो गया था.

असल में शेफ ने डिलीवरी करने वाली टीम से कहा कि उन्होंने 1,500 अंडे ही मंगाए हैं. डिलीवरी टीम ने 15000 अंडे के ऑर्डर वाली कॉपी उन्हें दिखा दी. ये सब गूगल की वजह से हुआ. शेफ ने गूगल ट्रांसलेटर का सहारा लिया और कोरियन भाषा में लिखकर ऑर्डर दे दिया. असल में टीम के शेफ ने कोरियाई भाषा में 1500 अंडे ही आर्डर किये थे, लेकिन वो उस भाषा में 15000 हो गया.

थोड़ी देर बाद जब 15000 अंडे आए तो शेफ और पूरी टीम हैरान थी. सबको इतने अंडे देखकर हैरानी हो रही थी. वो समझ नहीं पा रहे थे कि ऐसा कैसे हो गया. टीम का शेफ बोले जा रहा था की उसने सिर्फ १५०० अंडे मंगवाए थे, जब बात खुली थी तो पता चला कि ये गलती शेफ की नहीं बल्कि गूगल ट्रांसलेशन की है.

जल्द ही अपनी गलती का एहसास कर टीम के शेफ ने अंडे डिलीवर करने वाले से विनती की  कि बाकी के अंडे वो वापस ले जाएं. गलतफहमी के कारण इतने ज्यादा अंडे आ गए. एक जीरो ज्यादा लग गया, जिसके चलते 1500 अंडे की जगह 15000 अंडे हो गया. आर्डर लेने वाली कम्पनी ने उसे वापस मांगा लिया. इस टीम को तो एक गलत जीरों ने अंडे ही खाने को मजबूर कर दिया है. टीम के साथ चल रहे खिलाड़ियों के खान पान की व्‍यवस्‍था करने वाले कर्मचारी की गलती से लगे एक जीरो ने ये स्‍थिति पैदा कर दी है. खिलाड़ियों को ये लगने लगा था कि अब ज्यादा अंडे खाने होंगे, लेकिन जब कंपनी वापस ले गई अंडे तो सबको राहत मिली.

ज़रा कल्पना कीजिए अगर वो अंडे वापस नहीं जाते तो 121 सदस्यों वाली नॉर्वे की टीम सभी अंडों को खत्म भी करना ही पड़ता. ऐसे में उनके खेल पर असर पड़ता. चाहकर भी वो अंडे ख़त्म नहीं कर पाते.

किसी ने सच कहा है कि ज्यादा समझदार होना भी कई बार मुश्किल खड़ा कर देता है. कुछ ऐसा ही हुआ नार्वे की टीम के साथ. उन्हें इस बात के लिए गूगल का सहारा नहीं लेना चाहिए था. उन्हें किसी लोकल की मदद लेनी चाहिए थी.

Don't Miss! random posts ..