ENG | HINDI

क्या शादीशुदा महिलाएं करती है सोशल मीडिया पर दूसरे मर्दों से फ्लर्ट !

दूसरे मर्दों से फ्लर्ट

दूसरे मर्दों से फ्लर्ट – ख्वाहिशें क्या सिर्फ मर्दों की होती हैं ?

शादीशुदा महिलाओं की नही । बढ़ती उम्र की रंगत चेहरे पर भले ही दिखने लगी है । दिल की ख्वाहिशें घर के कामकाज में घुलने लगी है । लेकिन जरुरी तो नहीं चाहते मरने लगी हो । आज की व्यस्त जिंदगी में दांपत्य जीवन में सबसे ज्यादा समस्याएं देखने को मिलती हैं । जिसका सबसे कारण तनाव और कामकाज का प्रेशर होता है । जिसके कारण अधिकतर पति अपनी पत्नियों को वक्त नहीं दे पाते । जिस वजह से महिलाएं तनाव ग्रस्त होने लगती हैं और इस तनाव को खत्म करने के रास्ते ढूंढने लगती हैं । जिसके लिए वो सोशल मीडिया पर बिजी होकर अपनी इच्छाएं पूरी करने लगती हैं ।

दूसरे मर्दों से फ्लर्ट

अब आप सोच रहे होंगे सोशल मीडिया पर चैटिंग करके इच्छाएं पूरी करना यानी । दरअसल कुछ रिपोर्टस के मुताबिक शादीशुदा महिलाएं भी सोशल मीडिया पर  दूसरे मर्दों से फ्लर्ट करती हैं और इऩमें ज्यादातर वो महिलाएं होती हैं । जिनके पति उन्हे वक्त नहीं दे पाते । या फिर जो अपने आपको अकेला महसूस करती हूं ।

 क्योंकि इनके अनुसार एक अनजान व्यक्ति से बात करने के बाद काफी हद तनाव खत्म करने में सहायता मिलती हैं । लेकिन अब सवाल उठता है कि क्या किसी शादीशुदा महिला का किसी गैर मर्द से चैटिंग पर फ्लर्ट करना सही हैं ।

दूसरे मर्दों से फ्लर्ट

क्या इसका असर उनके दांपत्य जीवन पर नहीं पड़ेगा । लेकिन अगर महिला के नजरिए से देखा जाए तो शायद क्यों नहीं ? आनलाइन चैटिंग करने वाली अधिकतर महिलाओं के अनुसार वो फ्लर्ट करके अपने रिश्ते में कुछ गलत नहीं कर रही हैं । वो किसी के साथ कोई अफेयर नहीं रख रही और नहीं किसी के साथ कोई संबंध बना रही हैं । और अगर किसी से बात करने से अकेलापन और वो खालीपन खत्म होता है जो शायद पति को नजर नहीं आता । तो इसमें क्या गलत हैं ?

दूसरे मर्दों से फ्लर्ट

हालांकि किसी अनजान की फ्रेंड रिक्वस्ट कंफर्म करना और उसके के साथ बातचीत करना किसी महिला के लिए आसान नहीं होता ।

इस दौर से गुजर चुकी महिलाओं का कहना है कि जब पहली किसी अनजान का मैसेज आता है तो मन में दस तरह के सवाल आते है । कोई देख न लें, किसी को पता चल गया तो, मेरे रिश्ते पर तो इसका कोई असर नहीं पड़ेगा । लेकिन शायद अपने पार्टनर की बेरुखी इन सवालों से कहीं बड़ी होती है । जो इन्हे मैसेज का रिप्लाए करने पर मजबूर कर देती हैं ।  महिलाओें के अऩुसार ऐसा कुछ नहीं होता कि वो किसी से इस हद तक की बातें करती है कि वो अपने रिश्ते से चिट करने लगे । वो बातें शायद एक दूसरे की तारीफ से शुरु होती है और बातों बातों में थोड़ी शरारत बस । लेकिन ये शायद उस दर्द और खमोशी को निकालने का एक जरिया बन जाता है जो शायद उनका पार्टनर कभी सुन नहीं पाता ।

लेकिन क्या अपने दांपत्य जीवन की परेशानियों को छिपाने का ये सही रास्ता हैं  कि आप शिकायत करना ही बंद कर दो । कहीं न कहीं इसका सबसे जिम्मेदार हमारी रोजमरा की जिंदगी है । जिसमें हम  आगे बढ़ने की चाह में अपने पार्टनर को वक्त नहीं दे पाते।  जो उन्हें सोशल मीडिया पर दूसरे मर्दों से फ्लर्ट करके अपना वक्त व्यतीत करने पर मजबूर करता  हैं ।

Don't Miss! random posts ..